• Mon. Mar 4th, 2024

तमंचों से बरसाई थीं सत्यप्रकाश और परिवार पर गोलियां, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में खुलासा

ByMudasir Mansoori

Oct 6, 2023

संपादक- संजू पुरोहित

पुलिस के लिए हत्याकांड में प्रयुक्त असलहों की बरामदगी चुनौती बनी हुई है। इन असलहों की बरामदगी और उनकी बैलेस्टिक रिपोर्ट आरोपियों को दोष सिद्ध करने में अहम कड़ी साबित होगी। वहीं, इनसे घटना में और लोगों की भूमिका भी स्पष्ट हो सकेगी।

देवरिया जिले में फतेहपुर के लेड़हा टोले में सत्यप्रकाश दुबे और उनके परिवार के दो अन्य सदस्यों की हत्या गोली मारकर की गई थी। पोस्टमार्टम रिपोर्ट के अनुसार, इनमें से दो को राइफल और एक को तमंचों से गोलियां बरसाकर मौत के घाट उतारा गया था। वहीं, परिवार के दो अन्य सदस्यों की हत्या धारदार हथियार से वार कर की गई थी।

अब पुलिस के लिए हत्याकांड में प्रयुक्त असलहों की बरामदगी चुनौती बनी हुई है। इन असलहों की बरामदगी और उनकी बैलेस्टिक रिपोर्ट आरोपियों को दोष सिद्ध करने में अहम कड़ी साबित होगी। वहीं, इनसे घटना में और लोगों की भूमिका भी स्पष्ट हो सकेगी।

पूर्व जिला पंचायत सदस्य प्रेम यादव की पत्नी शीला के अनुसार, घटना के दिन सुबह किसी का फोन आने पर पति बाइक से निकले थे। वहीं, घटनास्थल से सत्यप्रकाश दूबे और उनके परिजनों के मोबाइल भी बरामद नहीं किए जा सके हैं।

बताया जा रहा है कि दरवाजे पर प्रेम यादव की मौत के बाद सत्यप्रकाश दूबे के परिजनों ने पुलिस और सगे संबंधियों को घटना की सूचना दी थी। इसके कुछ देर बाद ही आक्रोशित भीड़ सत्यप्रकाश के दरवाजे पर पहुंच गई और पांच लोगों की हत्या कर दी गई।

दोनों पक्षों के मारे गए लोगों के मोबाइल फोन से अन्य संदिग्धों की भूमिका का राज खुल सकता है, क्योंकि इस घटना में कई असलहों का इस्तेमाल हुआ है। इसके कारण पुलिस अभयपुरा और प्रेम के करीबियों के असलहों के बारे में जानकारी जुटा रही है, ताकि आरोपियों के खिलाफ कार्रवाई की जा सके। एएसपी राजेश कुमार ने बताया कि केस के हर पहलुओं पर गहनता से जांच चल रही है। सीडीआर से दोनों तरफ से हुई बातों का रिकॉर्ड भी खंगाला जा रहा है। असलहों की तलाश की जा रही है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *