उत्तराखंडहरिद्वार

मुस्लिम सेवा संगठन द्वारा प्रेस क्लब देहरादून में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया

मुस्लिम सेवा संगठन द्वारा प्रेस क्लब देहरादून में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया

आज दिनांक 13 जनवरी 2022 को मुस्लिम सेवा संगठन द्वारा प्रेस क्लब देहरादून में एक प्रेस वार्ता का आयोजन किया गया प्रेस को संबोधित करते हुए संगठन के अध्यक्ष नईम कुरैशी ने कहा कि देश ही नहीं अपितु उत्तराखंड में भी मुस्लिम सबसे बड़ी अल्पसंख्यक आबादी है और सिर्फ इतना ही नहीं उत्तराखंड में मुस्लिम सबसे बड़ी दूसरी आबादी है वर्ष 2011 की जनगणना के अनुसार उत्तराखंड में 80.97 हिन्दू आबादी,13.95 मुस्लिम आबादी,सिख 2.34 और क्रिश्चियन आबादी 0.37 है सभी आंकड़े प्रतिशत में( जनगणना 2011 के आधार पर) 11 साल बीत जाने के उपरांत निश्चित ही इन आंकड़ों में वृद्धि हुई है पर यह विडंबना है कि उत्तराखंड बनने के बाद भी मुस्लिम समाज जो सबसे बड़ी दूसरी आबादी है अनुपात के हिसाब से उसे राजनीतिक प्रतिनिधित्व नहीं मिला

सियासत में भागीदारी हमारा लोकतांत्रिक अधिकार!

उत्तराखंड ने अपने अस्तित्व में आने के बाद समुदाय विशेष अपने अधिकारों से वंचित क्यों रहा यह प्रश्न तो मस्तिष्क में मानो जैसे भ्रमण कर रहा हो जनसंख्या का आकलन किया जाए तो समुदाय विशेष लगभग 14% जनसंख्या का कुल हिस्सा है परंतु यह समाज आज भी प्रदेश का सबसे वंचित और शोषित समाज है सत्ता में उसकी भागीदारी विधानसभा के पटल पर ना के बराबर ही रही है तथाकथित सेक्यूलर पार्टियों ने इस समुदाय को केवल वोट बैंक का साधन मात्र ही समझा है आज बेरोजगारी महंगाई बढ़ती दरें पलायन और गिरती स्वास्थ्य सेवाओं जैसे मुद्दों के बीच यह मुद्दा कहीं खोया हुआ नजर आता है यह समाज इन मुद्दों से सबसे ज्यादा प्रभावित है सच्चर कमेटी ने इस बात पर विशेष जोर दिया है कि सियासी दलों को मुस्लिम आबादी के आधार पर कम से कम 10% हिस्सेदारी सुनिश्चित करनी चाहिए ताकि मुस्लिम समाज का सर्वागीण विकास हो सके परंतु अफसोस किसी भी राजनीतिक पार्टी ने उत्तराखंड बनने के बाद से ऐसा नहीं किया सत्ता की धुरी इन ज्वलंत मुद्दों का उत्तर है तथाकथित सेक्युलर पार्टियों को सुझाव भी है और चेतावनी भी कि प्रदेश में कम से कम 14 सीटों पर मुस्लिम प्रत्याशियों को टिकट दे प्रदेश की डेढ़ दर्जन से अधिक सीटों पर यह यह समाज निर्णायक भूमिका में होते हुए भी सदन में उचित प्रतिनिधित्व ना मिलना इन सेक्यूलर पार्टियों के दोहरे चरित्र को दर्शाता है अगर प्रदेश की मुस्लिम बहुल विधानसभा सीटों पर इन सेक्यूलर पार्टियों ने उचित भागीदारी सुनिश्चित नहीं की तो मुस्लिम सेवा संगठन इन सीटों पर अपने प्रत्याशी उतार लोकतंत्र के पर्व में अपनी भागीदारी सुनिश्चित करेगा प्रेस वार्ता में मौजूद रहे संगठन के अध्यक्ष नईम कुरैशी उपाध्यक्ष आकिब कुरेशी महासचिव आरजेतशा सद्दाम कुरेशी मसूरी इकाई के अध्यक्ष अकरम खान रामपुर इकाई के अध्यक्ष राशिद अली मीडिया प्रभारी रमीज राजा कोषाध्यक्ष मुदस्सिर कुरेशी संगठन सचिव मेहताब कुरैशी मोहम्मद साकिब आदि मौजूद रहे

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close