उत्तरप्रदेशमुजफ्फरनगर

कैंसर रूपी जानलेवा बीमारी के प्रति जागरूक किया गया।

कैंसर रूपी जानलेवा बीमारी के प्रति जागरूक किया गया।

आज दिनांक 04.02.2021, दिन बृहस्पतिवार को होली चाइल्ड पब्लिक इण्टर काॅलेज, जडौदा, मुजफ्फरनगर के सभागार में विश्व कैंसर दिवस के अवसर पर छात्र-छात्राओं व अध्यापकों के साथ जानलेवा बीमारी कैंसर के प्रति जागरूकता एवं उससे बचने के विषय पर कैंसर जागरूक कार्यक्रम का आयोजन किया गया, जिसमें विडियों, समभाषण और पोस्टरों के माध्यम से छात्र व छात्राओं को कैंसर रूपी जानलेवा बीमारी के प्रति जागरूक किया गया।
प्रधानाचार्य प्रवेन्द्र दहिया ने बताया कि कोशिकाओं के असाधारण रूप से बढने के विकार को कैंसर कहा जाता है। डब्लू0एच0ओ0 के अनुसार कैंसर दुनियाभर में मृत्युदर का दूसरा सबसे बडा कारण है। अतः हमें कैंसर के प्रति जागरूक होना अतिआवश्यक है, हमें अपने खान-पान पर विशेष ध्यान रखना होगा तथा शरीर में होने वाले कुछ बदलाव जैसे- शरीर का वजन अचानक कम या ज्यादा होना, कमजोरी महसूस होना, त्वचा के नीचे गांठ महसूस होना, लगातार खांसी या सांस लेने में कठिनाई होना, त्वचा में जल्दी निशान पड जाना, भूख कम लगना, बार-बार बुखार आना, मांसपेशियों व जोडों में दर्द रहना, बार-बार संक्रमण होना आदि होने पर डाॅक्टर से सलाह लेनी चाहिए। खेती में लगातार हो रहे अत्यधिक मात्रा में पेस्टी साइड भी कैंसर का बहुत बडा कारण है, अतः हमें जैविक खेती अपनाने पर जोर देना चाहिए।
तम्बाकू तथा उससे बने उत्पाद, अल्कोहल, अस्वास्थ्य आहार, रिफाइंड खाद्य पदार्थ, भोजन को बार-बार गर्म करके खाना भी कैंसर का कारक बन सकते है, अतः हमें इनके सेवन से बचना चाहिए। तनाव भी कैंसर का एक मुख्य जोखिम कारक माना जाता है, अतः हमें तनावमुक्त एवं स्वस्थ जीवन शैली अपनानी चाहिए। कोर्डिनेटर आजाद सिंह ने बच्चों को कुछ सुझाव दिये जैसे- नियमित रूप से व्यायाम करें, शरीर का सामान्य वजन बनाये रखें, मैडिटेशन करें, खूलकूद में भाग लें, मस्तिष्क को शांत करने वाली गतिविधियां करें, अपने भोजन में फाइबरयुक्त सब्जियों का इस्तेमाल करें, बाहर तैयार किया या डब्बा बन्द खाना न खाये, वसायुक्त और रेड मीट भोजन से बचे तथा उन्होंने बच्चों को जागरूक करते हुए, ये सब जानकारी अपने सगे-सम्बन्धियों तथा मित्रों से साझा करने की भी सलाह दी। सभी अध्यापकों ने भी अपने-अपने विचार प्रस्तुत किये। धीरज बालियान ने बच्चों को बताया कि योग भगाये रोग का सख्ती से पालन करें अर्थात नियमित रूप से योग तथा प्राणायाम को अपनी जीवनशैली में अनिवार्य रूप से स्थान दें। दिव्या, देवांशी, तनु, खुशी, अनम, मानशी, हिमांशी, गुलिश्ता, वाणी, सोनू, सिमरन, आरती, मुस्कान, आयशा, विशाखा, सानिया, वर्तिका और साजिया ने कैंसर जागरूकता पोस्टर बनायें।
छात्रा रूकसार ने कविता के माध्यम से बच्चों को कैंसर के प्रति जागरूक किया तथा खुशनिगा ने अपने विचार रखते हुए बताया कि जो-जो भी जानकारी हमें हर बार दी जाती है हम उसका अनुसरण नहीं करते यही हमारी बीमारियों का कारण भी बनता है।
नितिन बालियान, जितेन्द्र कुमार, अमित धीमान, विरेन्द्र राजवंशी, मनोज कुमार तथा मंजूला ने भी संक्षिप्त रूप में कैंसर पर अपने विचार प्रस्तुत किये। विचारगोष्ठी के समापन पर प्रधानाचार्य प्रवेन्द्र दहिया ने सभी छात्रों के उज्जवल स्वास्थ्य की कामना की तथा बच्चों ने कैंसर प्रतीक चिह्न बनाकर समाज को कैंसर के प्रति जागरूक किया।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Close